एक माह के भीतर हरिद्वार में भाजपा को दूसरा झटका, 2017 में प्रत्याशी रहे सुबोध कमल छोड़ हाथी पर सवार

0
119

इससे पहले भारतीय चिकित्सा परिषद उत्तराखंड के पूर्व अध्यक्ष डॉ0 दर्शन कुमार शर्मा भी भाजपा छोड़कर हाथी पर सवार हो चुके हैं

देहरादून। आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर के लिए जहां पार्टियों ने कमर कस ली है वहीं कई नेता भी अपने समीकरण बैठाने के लिए दलबदल का सहारा लेने में जुट गए हैं हरिद्वार जिले की भगवानपुर विधानसभा से 2017 के विधानसभा चुनाव में भाजपा से प्रत्याशी रहे सुबोध राकेश ने भाजपा को झटका देते हुए बहुजन समाज पार्टी का दामन थाम लिया है।

बता दें कि पिछले काफी दिनों से सुबोध राकेश के बसपा में जाने की चर्चाएं जोरों पर थीं। आज सुबोध राकेश ने गाजियाबाद स्थित पश्चिमी उत्तर प्रदेश व उत्तराखंड प्रभारी शमशुद्दीन राइन के आवास पर अपने समर्थकों के साथ बसपा ज्वॉइन कर ली। सुबोध राकेश के भाई दिवंगत सुरेंद्र राकेश हरीश रावत एवं विजय बहुगुणा की सरकार में कैबिनेट मंत्री रह चुके हैं। वर्तमान में सुबोद राकेश की भाभी ममता राकेश भगवानपुर विधानसभा से कांग्रेस पार्टी की विधायक हैं। बताया जाता है कि देवर भाभी के बीच राजनीतिक रूप से जबरदस्त मतभेद हैं। सुबोध राकेश वर्तमान में भाजपा अनुसूचित मोर्चा के प्रदेश महामंत्री के पद पर रहकर कार्य कर रहे थे। साथ ही भगवानपुर से चेयरमैन अपनी माता सहती देवी के प्रतिनिधि के रूप में भी वह कार्य कर रहे हैं।

इससे पहले त्रिवेंद्र सरकार में राज्य मंत्री रहे चिकित्सा परिषद उत्तराखंड के अध्यक्ष डॉ0 दर्शन कुमार शर्मा भी भाजपा को झटका देकर बहुजन समाज पार्टी में शामिल हो चुके हैं और बहुजन समाज पार्टी ने उनको हरिद्वार ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र से प्रभारी भी घोषित कर दिया है। बहुजन समाज पार्टी में प्रभारी ही संबंधित लोकसभा या विधानसभा का प्रत्याशी होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here