कैबिनेट मंत्री के सामने भाजपा विधायक एवं पार्टी जिलाध्यक्ष के बीच जबरदस्त बहस, देखें वीडियो

0
106

देहरादून। प्रदेश में विधानसभा चुनाव जैसे जैसे नज़दीक आ रहा हैं सियासी सरगर्मियां तेज हो गई है। रायपुर विधानसभा क्षेत्र में भारतीय जनता पार्टी के अंदर जबरदस्त फूट दिखने लगी है। देहरादून के रायपुर विधानसभा क्षेत्र से पार्टी की अंदरूनी खटास की तस्वीर शनिवार को एक बार फिर सामने आई है। यहां कैबिनेट मंत्री के सामने ही विधायक और कार्यकर्ताओं में जबरदस्त भिड़ंत हो गई। बहस इतनी बढी़ कि बात औकात और मर्यादा तक पंहुच गई। शनिवार को मुख्यमंत्री के कार्यक्रम से पहले उच्च शिक्षा राज्य मंत्री धन सिंह रावत के सामने भाजपा विधायक उमेश शर्मा काऊ का गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया और वह अपने ही कार्यकर्ताओं पर भड़ास निकालते हुए नजर आए। जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

दरअसल देहरादून के रायपुर में डिग्री कॉलेज के भवन के लोकार्पण कार्यक्रम था। इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री धामी को शिरकत करनी थी। इस दौरान उच्च शिक्षा राज्य मंत्री धन सिंह रावत सहित विधायक और भारी मात्रा में कार्यकर्ता एकत्र थे। तभी सीएम के कार्यक्रम में पहुंचने से चंद मिनट पहलेमंत्री धन सिंह रावत के सामने रायपुर से भाजपा विधायक उमेश शर्मा काऊ का पारा चढ़ गया। वह अपने ही कार्यकर्ताओं पर भड़ास निकालते हुए नजर आए। इस दौरान उन्होंने कार्यक्रम को छोड़ने तक की धमकी दे दी साथ ही यहां तक कहा कि वह जिन कार्यकर्ताओं के साथ खड़े हैं यदि वह उनके साथ रहेंगे तो वह कार्यक्रम छोड़कर चले जाएंगे। भाजपा विधायक अपने ही पार्टी के कार्यकर्ताओं को औकात में रहने तक की धमकी देने लगे। इतना ही नहीं उच्च शिक्षा विभाग के कार्यक्रम को उमेश शर्मा काऊ अपना निजी कार्यक्रम तक बताने लगे और भाजपा जिलाध्यक्ष शमशेर सिंह पुंडीर और बवाल कर रहे कार्यकर्ताओं को कार्यक्रम से निकलने तक की धमकी देने लगे।

आपको बता दें कि भाजपा विधायक काऊ की जिस कार्यकर्ता से भिड़त हुई वह जिला पंचायत के सदस्य हैं और पार्टी में 15 से 20 सालों के लिए काम कर रहे है।काऊ ने इन कार्यकर्ताओं की शिकायत मंत्री धन सिंह रावत से भी की है विधायक का कहना है कि कार्यकर्ता उन्हें अपना विधायक नहीं मानते हैं और इस क्षेत्र में जो भी पोस्टर लगते हैं उनको यह फाड़ देते हैं। वहीं जिला पंचायत सदस्य वीर सिंह का कहना है कि विधायक जिस तरीके से अपशब्दों का प्रयोग कर रहे हैं। उससे कार्यकर्ताओं का मनोबल भी गिर रहा है एक विधायक को यह शोभा नहीं देता कि वह अपने ही पार्टी के कार्यकर्ताओं को इस तरीके से धमकाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here