पत्रकार ने मेयर गामा से अवैध होर्डिंग बैनरों को लेकर किया सवाल, तो भड़क उठे गामा जी, देखें वीडियो

0
156

देहरादून। देहरादून नगर निगम के मेयर पर आजकल कुर्सी का रंग ऐसा चढ़ा हुआ है कि मेयर साहब किसी को कुछ नहीं समझ रहे हैं। अगर उनके कार्यालय में कोई फरियादी फरियाद लेकर जाता होगा तो वो भी शायद उनके इसी रवैये का शिकार होता होगा जिस रवैये का शिकार आज एक पत्रकार हुआ है।

देहरादून नगर निगम के मेयर सुनील उनियाल गामा ने आज जो बर्ताव एक पत्रकार के साथ किया, सूबे के मुखिया भी शायद उस लहजे मे किसी से बात नहीं करते होंगे।

दरअसल मामला दून नगर निगम के कार्यालय का है जहां मेयर साहब से शहर में लगे अवैध होर्डिंग को लेकर एक पत्रकार बाइट लेने मेयर साहब के पास पहुंचा था लेकिन मेयर साहब इन अवैध होर्डिंग एवं बैनरों की गंदगी से बदरंग हो रहे शहर की चिंता करते हुए इन बैनरों को हटाने के बारे में अधीनस्थों को निर्देशित करने के बजाये पत्रकार से ही उलझने लगे और बाइट देने से साफ इन्कार कर दिया।

देखें पूरे घटनाक्रम का वीडियो

यही नहीं मेयर साहब के कार्यालय में उपस्थित उनके चारणों द्वारा भी पत्रकार से बदसूलूकी की गई। जिसे गामा जी खामोशी से देखते रहे

पूरा वाक्य शुक्रवार का है 11:00 से 12:00 के बीच A1 न्यूज़ चैनल के पत्रकार यश राज आनंद जब सूबे की राजधानी देहरादून मे लगे होर्डिंग्स जो शहर को बदरंग बना रहे हैं के बारे मे मेयर साहब का पक्ष जानने पहुंचे तो मेयर साहब ने साफ इन्कार कर दिया और बोले जो भी पूछना हो कैमरा बंद करके पूछो। जब पत्रकार ने कैमरा बंद नहीं किया तो मेयर साहब भड़क गये और पत्रकार को खरी खोटी सुना दी। जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। और मेयर साहब की इस हक़ीक़त को देखकर शहर को स्वच्छ एवं सुंदर बनाने के लिए लगातार प्रयास कर रहे सामाजिक संगठन एवं समाजसेवियों के साथ ही जनता भी स्तब्ध है।

सवाल?

सवाल ये उठता है की जब पब्लिक सरोकारों से जुड़े मेयर साहब पत्रकारों से ही ठीक पेश नहीं आ रहे हैं तो जनता से कैसे रूबरू होते होंगे। क्या मेयर साहब का एक पत्रकार से ये बर्ताव जाइज़ है ? क्या सवाल पूछने गये पत्रकार से बदसूलूकी करने वालों को मेयर सुनील उनियाल गामा को रोकना नहीं चाहिए था ? जबकि मेयर साहब भी पत्रकार पर भड़क गये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here