फर्जी कोरोना रिपोर्ट के साथ चार लोगों को दून पुलिस ने किया गिरफ्तार

0
113

देहरादून। उत्तराखंड सरकार की ओर से छूट दिए जाने के बाद बड़ी संख्या में यात्री उत्तराखंड की ओर रुख कर रहे हैं। इसमें हरियाणा, नई दिल्ली, राजस्थान जैसे राज्यों के यात्रियों की संख्या ज्यादा है, लेकिन कई ऐसे यात्री भी हैं जो फर्जी आरटीपीसीआर रिपोर्ट लेकर आ रहे हैं। गुरुवार को कोविड की फर्जी रिपोर्ट लेकर उत्तराखंड घूमने का रहे 13 पर्यटकों को पुलिस ने आशारोड़ी चेक पोस्ट पर दबोच लिया। जांच पड़ताल के बाद पुलिस ने दो अलग-अलग वाहनों में आए चार लोगों के खिलाफ फर्जी दस्तावेज बनाने, महामारी एवं आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज करते हुए उन्हें गिरफ्तार कर लिया। अब तक 100 फर्जी आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट का पता चला है।

क्लेमेन्टाउन थानाध्यक्ष धर्मेंद्र रौतेला ने बताया की मुखबिर द्वारा सूचना मिली कि कुछ पर्यटक कोरोना की फर्जी निगेटिव रिपोर्ट बनवाकर देहरादून आ रहे हैं। इस आधार पर आशारोड़ी चेक पोस्ट स्थित आरटीओ बैरियर के पास एसओजी टीम के साथ सख्ती से चेकिंग अभियान शुरू की गई। चेकिंग के दौरान दो गाड़ियों को संदेह के आधार पर रोककर उसमें बैठे पर्यटकों से पूछताछ की गई। इस दौरान यूपी16 एफटी1621 से एक व्यक्ति के पास से दस फर्जी आरटीपीसीआर रिपोर्ट पकड़ी गई। जबकि वाहन संख्या यूपी 14 ईडी 7677 से तीन व्यक्तियों को फर्जी आरटीपीसीआर रिपोर्ट के साथ गिरफ्तार किया गया।

इनकी पहचान तरुण मित्तल पुत्र ऋषभ स्वरूप मित्तल निवासी चिरंजीव विहार जिला गाजियाबाद,
अमित गुप्ता पुत्र जय प्रकाश गुप्ता निवासी केएम कवि नगर थाना कवि नगर गाजियाबाद,
अमित कौशिक पुत्र सतीशचंद निवासी एफ ब्लाक नेहरूनगर थाना नेहरू नगर गाजियाबाद,
सुजीत कामत पुत्र महेन्द्र कामत निवासी झिड़की पोस्ट बनगावा थाना लोकही जिला मधुबनी बिहार के रूप में हुई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here