बढ़ती महंगाई एवं लचर स्वास्थ्य सेवाओं के विरोध में कांग्रेस ने किया उपवास

0
88

देहरादून। रविवार को प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय देहरादून में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह के आह्वान पर बढ़ती मंहगाई एवं लचर स्वास्थ्य सेवाओं के विरोध में उपवास रखा गया। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा राज्य में बेरोजगारी, भ्रष्टाचार के साथ ही मंहगाई ने आम आदमी का जीना दूभर कर दिया है। उन्होंने कहा कि भाजपा द्वारा मुख्यमंत्री बदलने से यह साबित भी हो गया है कि भाजपा की राज्य सरकार ने अपने साढ़े चार वर्ष के कार्यकाल में कोई भी कार्य नहीं किया। प्रदेश की जनता मंहगाई से त्राहिमाम-त्राहिमाम कर रही है। अनाज, सब्जियां, फल, खाद्यय तेल, पेट्रोल, डीजल की कीमतों में बेतहाशा वृद्धि से परेशान जनता अब रसोई गैस की कीमतों में की गई मूल्य वृद्धि से भारी आक्रोशित है। प्रदेश का नौजवान सरकारी सेवाओं की विज्ञप्तियों को देखने के लिए तरस गया है। डबल इंजन की सरकार बनने पर किसानों की कर्जा माफी का वादा करने वाले प्रधानमंत्री अपना वादा भूल गये हैं। 2014 से लेकर मई 2021 तक मोदी सरकार ने देश की जनता की गाढी कमाई का 80 लाख करोड़ रुपये लूटने का काम किया है। प्रीतम ने कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना काल के पिछले तीन महीनों में पेट्रोल के दामों में बेतहाशा वृद्धि हुई जिससे वैश्विक महामारी का दंश झेल रही जनता की कमर टूट चुकी है।

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि प्रदेश सरकार कोरोना महामारी और ब्लैक फंगस् से निपटने मे पूर्णतयः विफल साबित हुई है, जिस तरह से कोर ग्रुप की बैठक यूपी और उतराखंड के चुनाव के परिपेक्ष्य मे आहुत की गयी यदि यह मीटिंग कोरोना और ब्लैक फंगस से निपटने के लिए और बढ़ती महंगाई को काबू करने के लिए आहुत की जाती तो कितना अच्छा होता और जनता को राहत मिलती, जिस तरह से आज प्रदेश कोरोना की महामारी से जूझ रहा है क्या ये उचित समय है बिजली की दरें बढ़ाने का, पेट्रोल डीसल के दाम बढ़ाने का, भाजपा ने वादा किया था की अगर डबल इंजन की सरकार आयेगी तो महंगाई कम होगी, पेट्रोल 35 रू में मिलेगा पर आज महंगाई चरम पर है पेट्रोल 95 पार डीज़ल 90 पार है, गैस का सिलेंडर आज 900 पार है, सब्सिडी भी बंद कर दी गयी है। सेवा दिवस मनाने का जो ढोंग भाजपा कर रही है ये एक ओछी राजनीति को दर्शाता है, कोरोना महामारी से प्रदेश की जनता पिछले तीन महीने से जूझ रही है पर सेवा करने की याद आज आ रही है ये सिर्फ एक चुनावी स्टंट है सेवा दिवस की आड़ मे सरकार अपनी असफलताओं को छुपाने का असफल प्रयास कर रही है।
सरकार को स्वास्थ्य व्यवस्थाओ पर ध्यान देना चाहिए ना कि चुनाव की तैयारी मे।

मुख्यमंत्री के आजादी के बाद राशनकार्ड पर कभी चीनी नही मिली वाले बयान पर व्यंग करते हुए अध्यक्ष ने कहा की ये उनके ज्ञान का अभाव है और शायद उन्होंने कभी राशन कार्ड का इस्तेमाल ही नही किया है उन्हें याद दिला दूँ की कांग्रेस की सरकारों मे 13.65रू में चीनी राशन कार्ड धारको को दी जाती रही है, उन्हे थोड़ा अधिकारियों से जानकारी ले लेनी चाहिए। उन्होने वैक्सीन की स्थिति पर चिंता जाहिर करते हुए कहा कि टीका उत्सव मनानें का कार्य सरकार ने जल्दबाजी में शुरू कर दिया जबकि शुरू करने से पहले सरकार को टीके की समुचित व्यवस्था कर लेनी चाहिए थी।

प्रीतम ने कहा कि केन्द्र सरकार ने देश के नागरिकों के स्वास्थ्य की अनदेखी करके जिस तरह से करीब छह करोड़ आठ लाख वैक्सीन के डोज विदशों में भेजनें का काम किया ये स्पस्ष्ट करता है कि सत्ता में बैठे हुए लोगों में दूरदर्शिता का अभाव है। प्रदेश मे जिस तरीके से 18 से 44 वर्ष के आयु वर्ग के टीकाकरण की गति शून्य के समान है ये कृत्य सरकार की कथनी और करनी में फर्क स्पष्ट करता है।
केन्द्र सरकार की यह जिम्मेदारी बनती थी कि वो सभी राज्यों को टीके उपलब्ध करवाये परंतु सरकार ने अपनी जिम्मेदारियों से मुंह मोड़ते हुए राज्य सरकारों पर यह भार डाल दिया ये प्रथम दृष्टया स्पष्ट करता है कि केन्द्र सरकार के पास टिकाकरण को लेकर कोई स्पष्ट निति नहीं है। जहां अन्य देश 50 प्रतिशत से ज्यादा आबादी का टीकाकरण करा चुके है वहां भारत अभी 3 प्रतिशत पर ही सिमटा हुआ है।

मौन उपवास में पूर्व विधायक राजकुमार, विजय सारस्वत, नवीन जोशी, आर्येन्द्र शर्मा, सूर्यकांत धस्माना, महानगर कांग्रेस अध्यक्ष लाल चंद शर्मा, नेता प्रतिपक्ष नगर निगम डाॅ विजेन्द्र पाल, गिरिश पुनेड़ा, नवीन पयाल, डाॅ प्रतिमा सिंह, कमलेश रमन, डाॅ प्रदीप जोशी, सूरत सिंह नेगी, हाजी सुलेमान अंसारी,मनीष नागपाल, पार्षद अर्जुन सोनकर, भूपेन्द्र नेगी, उर्मिला थापा, देविका रानी, सविता सोनकर, रमेश कुमार मंगू, विनीत डोभाल, सिद्धार्थ वर्मा, कमल कुमार,तुषार पाल, पूर्व पार्षद रीता रानी, गरिमा दसौनी, सुभाष धस्माना, जगधीश धीमान, प्रवीन त्यागी, अमनदीप, सुन्दर सिंह पुण्डीर, अजय बेलवाल, जाहिद अंसारी, नीरज नेगी, विकास नेगी, नवनीत कुकरेती, संदीप चमोली, राम कपूर, भूपेन्द्र नेगी, राहुल प्रताप सिंह, अविनाश मणि, सुनित सिंह, पुनित कुमार सिंह, अशोक प्रियांश छाबड़ा, अमन सिंह, राहुल राॅबिन पंवार, सुरेन्द्र रावत, मनमोहन शर्मा सुधांशु पुण्डीर आदी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here