बॉर्डर पर यूक्रेन पुलिस एवं सेना की भारतीय छात्रों के साथ बदसलूकी, धक्का-मुक्की एवं मारपीट के वीडियो वायरल

0
101

यूक्रेन में बिगड़े हालात के बीच वहां फंसे भारतीय छात्रों के साथ यूक्रेन की पुलिस की बर्बरता भी सामने आई है। रोमानिया और पोलैंड बॉर्डर पर भारतीय छात्रों को बुरी तरह पीटा गया है। विरोध करने पर स्टूडेंट्स के ऊपर डंडे भी बरसाए गए हैं। यूक्रेन में फंसे पंजाब, राजस्थान, छत्तीसगढ़, मप्र और केरल के छात्रों ने इस बर्बरता के वीडियो और ऑडियो सोशल मीडिया के साथ ही अपने परिवार के साथ शेयर किए हैं।

पंजाब की MBBS स्टूडेंट ने रोमानिया बॉर्डर पर यूक्रेन की पुलिस की बर्बरता के वीडियो और ऑडियो शेयर किए हैं। वीडियो में यूक्रेन पुलिस की बर्बरता साफ दिख रही है। पुलिस कर्मचारी बैग लेकर जा रहे भारतीय छात्रों को लातों-घूंसों से मारते हुए दिख रहे हैं। पंजाब के कपूरथला की रहने वाली छात्रा यूक्रेन की सुमी स्टेट यूनिवर्सिटी में पढ़ती है। उसने अपने ऑडियो में पूरा घटनाक्रम भी बयान किया है।

राजस्थान, केरल और छत्तीसगढ़ के छात्रों ने भी वीडियो में बताई आपबीती
छत्तीसगढ़ के जांजगीर जिले के छात्र भूपेंद्र सिंह राठौर ने भी पोलैंड बॉर्डर पर पुलिस की बर्बरता का वीडियो बनाकर अपने पिता दीपक सिंह राठौर को भेजा है। वीडियो में भूपेंद्र ने बताया है कि यहां हालात बहुत खराब हैं। स्टूडेंट्स के साथ मारपीट की जा रही है।

यूक्रेन के एलवीआईवी से MBBS की पढ़ाई कर रहे टोंक (राजस्थान) के आयुष ने बताया- मैं भारत आने के लिए पैदल चलकर दो अन्य साथियों के साथ 79 किमी दूर बीती रात पोलैंड बॉर्डर पर पहुंच चुका था। मैं और मेरे 30 साथी शाम को बार्डर पार कराने की उम्मीद में चेक पॉइंट पर ही बैठे थे। शाम को यूक्रेन की सेना ने वापस कॉलेज जाने के लिए कह दिया। हमने इनकार किया तो लाठियां बरसाने लगे।

केरल के कई छात्रों ने भी यूक्रेन पोलैंड बॉर्डर के पास शेहयानी में यूक्रेनी पुलिस और सेना पर मारपीट करने का आरोप लगाया है। एक छात्रा ने वीडियो मैसेज में बताया है कि जो छात्र पोलैंड की तरफ जाने की कोशिश कर रहे थे, उनकी तरफ सेना ने तेज गाड़ी चलाई। सेना ने हवाई फायर भी किए।

मप्र के भोपाल की सृष्टि विल्सन के पास भी इसका वीडियो आया है। सृष्टि ने बताया कि हम लोगों से अच्छा सलूक नहीं किया जा रहा। लड़कियों के साथ भी दुर्व्यवहार किया जा रहा है।

रोमानिया-यूक्रेन बॉर्डर पर भारतीय युवकों के ऊपर लातों से प्रहार करते यूक्रेन के पुलिसकर्मी।
रोमानिया-यूक्रेन बॉर्डर पर भारतीय युवकों के ऊपर लातों से प्रहार करते यूक्रेन के पुलिसकर्मी।
कपूरथला की छात्रा ने बताया, ‘मौके पर पहले यूक्रेनियन छात्रों को ही अंदर लिया गया। हम लोगों ने जब इस बारे में बात तो उन्होंने पहले भारतीय लड़कियों को बॉर्डर पार कराने की मंजूरी दी। इसके बाद पुलिस आई और मौके पर मौजूद बैग और अन्य सामान उठाए भारतीय युवकों को बुरी तरह पीटा। लात-घूंसों से उन्हें मारा।’

रॉड और गन से भारतीय छात्रों को मारा
छात्रा ने आगे कहा, ‘भारतीय युवकों को बुरी तरह टॉर्चर किया गया। यहां तक कि जिन लोगों को दमा की शिकायत थी, उनका मुंह बंद करके दिखाया गया कि वह किस तरह से ब्रीथलेस हैं। रात 12:00 बजे जो गार्ड्स मौजूद थे, उन्होंने बॉर्डर के चेकिंग पॉइंट पर स्टूडेंट्स के साथ हंटर गेम खेला।’

छात्रा ने कहा कि उन्हें नहीं पता यह गेम क्या होती है। वहां जाने के बाद देखा कि वो रॉड और गन लेकर खड़े थे। उसके बाद उन्होंने कहा कि आपको ये गेम खेलना है, जो यह गेम खेलेगा, उसे ही वीजा मिलेगा। वहां जो भी भारतीय लोग थे, उन्हें लात-घूंसों से मारा गया। इस दौरान लड़का-लड़की में कोई फर्क नहीं किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here