लखीमपुर खीरी कांड: सुप्रीम दखल के बाद आशीष मिश्रा ग‍िरफ्तार, 11 घंटे पूछताछ के बाद हुई गिरफ्तारी

0
113

लखनऊ। लखीमपुर खीरी कांड के मुख्य आरोपित केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्र टेनी के बेटे आशीष मिश्र ‘मोनू’ को शनिवार रात देर रात गिरफ्तार कर लिया गया। उस पर जांच में सहयोग न करने आरोप लगाते हुए गिरफ्तारी की गई है।

एसआइटी प्रभारी डीआइजी उपेंद्र अग्रवाल ने रात करीब 10:50 बजे क्राइम ब्रांच के दफ्तर के बाहर से निकलकर मोनू की गिरफ्तारी की घोषणा की। इससे पहले दिन में मोनू स्कूटी पर सवार होकर खुद ही क्राइम ब्रांच पहुंचा जहां पुलिस ने उसे हिरासत में लेकर करीब 11 घंटे तक गहन पूछताछ की। इस दौरान एसडीएम डा. अखिलेश कुमार सिंह भी वहां पहुंचे और लगभग डेढ़ घंटे रहे। पूछताछ की वीडियोग्राफी भी की गई है।
तिकुनिया में तीन अक्टूबर को हुई किसानों की मौत में आशीष मिश्र आरोपित हैं।

पुलिस ने गुरुवार को उसके आवास पर नोटिस चस्पा कर शुक्रवार सुबह 10 बजे तक हाजिर होने को कहा था, लेकिन वह नहीं आया था। शुक्रवार को पुलिस ने दोबारा समन चस्पा कर शनिवार दिन में 11 बजे पेश होने को कहा था। लेकिन, इससे 20 मिनट पहले ही वह मुंह पर रुमाल बांधकर नीले रंग की स्कूटी से क्राइम ब्रांच के आफिस में पहुंच गया। वहां विशेष जांच टीम (एसआइटी) के मुखिया पुलिस हेडक्वार्टर के डीआइजी उपेंद्र अग्रवाल ने उससे एक के बाद एक कई सवाल पूछे। जांच टीम ने अपने सवालों की लिस्ट पहले से ही तैयार कर रखी थी। कुछ सवाल आशीष द्वारा उपलब्ध कराए गए साक्ष्यों के बाबत भी पूछे गए।

पुलिस ने आशीष मिश्रा की पेशी को देखते हुए पुलिस लाइन को छावनी में तब्दील कर दिया है। जगह-जगह बैरिकेड्स लगाए गए हैं। चप्पे-चप्पे पर पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। आशीष की जांच दल के सामने पेशी को लेकर पुलिस लाइन में सुरक्षा के तगड़े इंतजाम हैं।

एसआइटी प्रभारी डीआइजी उपेंद्र अग्रवाल ने रात करीब 11 बजे क्राइम ब्रांच के दफ्तर के बाहर से निकलकर मोनू की गिरफ्तारी की घोषणा की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here