22 प्रत्याशियों को लगा झटका, आयोग ने रद्द किए नामांकन

0
119

देहरादून। उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव के लिए नामांकन पत्रों की जांच चल रही है। ऐसे में अब प्रत्याशियों को झटका लग रहा है। 22 प्रत्याशियों के नामांकन निरस्त कर दिए गए हैं। इनमें गढ़वाल मंडल के 13 और कुमाऊं मंडल के नौ नामांकन शामिल हैं। इसके साथ ही अब 31 जनवरी को नाम वापसी के बाद सभी विधानसभा सीटों पर चुनाव लडऩे वाले प्रत्याशियों की स्थिति स्पष्ट हो जाएगी। उसके बाद ही पता चल सकेगा मैदान में कितने प्रत्याशी टिकते है।

बता दें कि जिन प्रत्याशियों के नामांकन रद्द किए गए हैं उनमें देहरादून की 10 विधानसभाओं में से केवल कैंट विधानसभा सीट पर तीन आवेदकों के नामांकन निरस्त किए गए। पौड़ी गढ़वाल जिले में यमकेश्वर, श्रीनगर, कोटद्वार, चौबट्टाखाल व पौड़ी विधानसभा सीट पर एक-एक नामांकन निरस्त किया गया। वहीं, टिहरी जिले में देवप्रयाग से एक नामांकन निरस्त किया गया है। हरिद्वार जिले में चार नामांकन पत्र निरस्त किए गए। इसमें रानीपुर से एक और लक्सर सीट पर तीन नामांकन निरस्त किए गए। वहीं, कुमाऊं मंडल में पिथौरागढ़ जिले की डीडीहाट सीट से एक और चंपावत जिले की लोहाघाट सीट पर एक नामांकन रद किया गया। बागेश्वर जिले में तीन नामांकन निरस्त हुए। इनमें बागेश्वर सीट से एक और कपकोट विधानसभा सीट से दो नामांकन निरस्त हुए।

वहीं अल्मोड़ा जिले में सल्ट सीट से एक नामांकन रद हुआ। ऊधम सिंह नगर जिले में तीन नामांकन निरस्त हुए। यहां रुद्रपुर, जसपुर और गदरपुर विधानसभा सीट पर एक नामांकन निरस्त हुआ। उधर उत्तरकाशी, चमोली व रुद्रप्रयाग जिले में कोई नामांकन निरस्त नहीं हुआ। नैनीताल जिले में कोई नामांकन पत्र निरस्त नहीं हुआ है। गौरतलब है कि विभिन्न कमियों की वजह से प्रदेश भर से 22 उम्मीदवारों के नामांकन पत्र खारिज हो गए हैं। हालांकि इसमें कोई प्रमुख दल या निर्दलीय उम्मीदवार शामिल नहीं है। इस तरह अब मुकाबले में 728 दावेदार बचे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here