BJP नेता दिखे तो बक्कल उधेड़ देंगे!, किसानों और भाजपाईयों की झड़प के बाद बोले टिकैत

0
98

नई दिल्ली। दिल्ली के गाजीपुर बार्डर का तापमान एक बार फिर चढ़ता हुआ दिख रहा है। प्रदर्शन कर रहे किसान नेताओं और बीजेपी नेताओं के बीच जमकर लाठीचार्ज की स्थिति नीर्मित हो गई थी। जिसके बाद किसान नेता राकेश टिकैत ने सख्त लहजे में बीजेपी को चेताया है। और कहा है भाजपा नेता मंच व मचं के आसपास दिखे तो बक्कल (खाल) उधेड़ दिया जाएगा। पूरे घटनाक्रम के बाद किसान नेता राकेश टिकैत आग बबूला हो गये हैं। राकेश टिकैत ने कहा कि वो वहां पर आ गए और अपने किसी नेता का स्वागत करना चाह रहे थे, ये कैसे हो सकता है। ये मंच संयुक्त मोर्चे का है, अगर मंच पर जाना है तो इसमें शामिल हो जाओ।

उन्होंने कहा कि सड़क पर मंच होने का अर्थ ये नहीं कि कोई भी मंच पर आ जाएगा। अगर आना ही है पार्टी छोड़कर आइये स्वागत है। जो कब्जा करने की कोशिश करेगा उनके बक्कल उधाड़ दिए जाएंगे।

किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि हां, मैं धमकी दे रहा हूं। मंच पर कब्जा करने नहीं दिया जाएगा, पूरे प्रदेश में उन्हें कहीं आने नहीं दिया जाएगा। ये सब पुलिस की मौजूदगी में हुआ है, उनकी (बीजेपी कार्यकर्ता) कोशिश थी कि वो मंच पर झंडा लगाएं और अपने नेता का स्वागत करें।

किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि हमारे लोगों ने किसी की गाड़ी पर पत्थर नहीं चलाए हैं, अगर कोई अब आया तो उसकी गाड़ी नहीं निकलने दी जाएगी। यहां पर गोला-लाठी का सामान तैयार है, जो भी बीजेपी का कार्यकर्ता मंच की तरफ आएगा उस पर एक्शन लिया जाएगा।

भाजपाईयों एवं किसानों के बीच हुई झडप की वीडियो

राकेश टिकैत ने कहा कि बीजेपी वाले इस आंदोलन पर कब्जा करना चाह रहे हैं, तीन दिनों से अलग-अलग इलाकों में वो आ रहे हैं। पुलिस भी इनका साथ दे रही है। राकेश टिकैत ने कहा कि अगर ये रोज-रोज होगा तो उनका इलाज कर दिया जाएगा। राकेश टिकैत ने कहा कि वो इस बारे में मामला भी दर्ज करवाएंगे।

दरअसल, बुधवार दोपहर को बीजेपी के कुछ कार्यकर्ता गाजीपुर बॉर्डर के पास अपने एक नेता का स्वागत करने पहुंचे थे। लेकिन देखते ही देखते यहां बवाल हो गया। किसान प्रदर्शनकारियों ने आरोप लगाया कि बीजेपी के कार्यकर्ता उनके मंच पर आने की कोशिश कर रहे थे, वहीं बीजेपी का कहना है कि किसान प्रदर्शनकारियों ने उनपर पथराव किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here