कोहिनूर ज्वेलर्स में मनाया गया गणतंत्र दिवस, देश की रक्षा को अपने प्राणों की आहुति देने वाले शहीद परिवार सम्मानित

0
55

देहरादून। गणतंत्र दिवस के मौके पर कोहिनूर आर्ट ज्वेलर्स माजरा की ओर से एक कार्यक्रम का आयोजन माजरा स्थित शोरूम पर किया गया जिसमें संविधान भारतीयों के कर्तव्य और अधिकारों के प्रति लोगों को जागरूक किया गया। कोविड-19 के तहत आयोजित किए गए कार्यक्रम में देश की रक्षा के लिए अपने प्राण न्योछावर करने वाले शहीद परिवारों को भी सम्मानित किया गया।

जनवादी महिला मंच की अध्यक्षा इंदु नौडियाल ने संविधान में दिये गये अधिकारों के प्रति लोगों को बताया। बैंक ऑफ इंडिया के सीनियर मैनेजर फरमान इकबाल ने समाज में फैली हुई बुराइयों को दूर करने और गणतंत्र के इस अवसर पर आपसी भाईचारे को बढ़ाने का संकल्प दिलाया।

कोहिनूर आर्ट ज्वेलर्स के स्वामी हाजी शेख इकबाल हुसैन ने कहा कि देश की आजादी के लिए हमारे पुरखों ने अपनी जाने कुर्बान की है तब जाकर हमारा देश स्वतंत्र हुआ है। उन्होंने कहा कि स्वतंत्रता के बाद देश को चलाने के लिए संविधान लागू किया हमें संविधान में दी गई शक्तियों का पता होना चाहिए और संविधान में दिए गए कर्तव्य का भी हमें पालन करना चाहिए।

उन्होंने यह भी कहा कि कोहिनूर आर्ट ज्वेलर्स 15 अगस्त एवं 26 जनवरी के अवसर पर हर साल कार्यक्रम आयोजित कर शहीद परिवारों को हौसला देने के लिए उन्हें शॉल और मोमेंटो व अन्य गिफ्ट देकर सम्मानित करता है। उनका कहना है कि शहीद होने वाले परिवार को उनके भाई बेटे पुत्र को तो नहीं लौटाया जा सकता लेकिन ऐसे परिवारों का हौसला बढा कर उनका सम्मान किया जाना अति आवश्यक है। इस मौके पर वरिष्ठ समाजसेवी खुर्शीद अहमद ने भी गणतंत्र दिवस के उपलक्ष में विस्तार से जानकारी दी। इसके अलावा दारे अरकम के सचिव मोहम्मद शाह नज़र, हिमालय परिवार के अध्यक्ष एमएस मलिक, राव अब्दुल रहमान, अहमद नवाज, काशिफ शेख आदि ने अपनी बात रखी।

वहीं नीलम मैनी एवं कक्षा पांच की छात्रा जिया मलिक ने देशभक्ति के गीत गाकर माहौल को देशभक्ति से सरोबार कर दिया।

इस अवसर पर प्रमोद उपाध्याय, माधुरी सेमवाल, पीके सिंघल, ममता मेहता, सुलोचना सुंद्रियाल, मोहम्मद नवाज, रामानंद राय, पल्लवी, मोहम्मद खुर्शीद, मेहर आलम, अमित, सुदीप, हेमराज सिंह नेगी, लवली, अंजलि, मासूम, इलमा आदि मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here