ठाकरे के खिलाफ अभद्र भाषा पर फंसे केन्द्रीय मंत्री राणे, मुकदमा दर्ज गिरफ्तारी के आदेश जारी

0
110

नई दिल्ली। केंद्रीय उद्योग मंत्री नारायण राणे पर गिरफ्तारी की तलवार लटक गई है नासिक साइबर पुलिस स्टेशन में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्दव ठाकरे के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी किए जाने पर उनके खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। नासिक में शिवसेना नेता व पार्षद ने केंद्रीय मंत्री के खिलाफ यह शिकायत दर्ज कराई है। शिवसेना नेता ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से तत्काल केंद्रीय मंत्री को मंत्रिमंडल से हटाने की भी मांग कर डाली है। केंद्रीय मंत्री के खिलाफ मामला दर्ज होने के बाद नासिक के पुलिस आयुक्त दीपक पांडे ने केंद्रीय मंत्री को उनके पद की गरिमा को ध्यान में रखते उन्हें तत्काल गिरफ्तार कर न्यायालय के सामने पेश करने का आदेश जारी किया है।

दरअसल केंद्रीय मंत्री नारायण राणे ने सोमवार को रायगढ़ जिले में स्थित महाड में आयोजित की गई प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए कहा था कि कोरोना की तीसरी लहर आने वाली है। यह मुख्यमंत्री को कैसे पता चला है? मुख्यमंत्री कह रहे हैं कि कोरोना बच्चों में फैलने वाला है। सीएम को यह कैसे पता चला है? सीएम को तो यह भी नहीं पता है कि यह कौन सा स्वतंत्रता दिवस था। वह भी सीएम को अधिकारियों से पूछना पड़ता है। मंत्रालय में स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर ध्वजारोहण के बाद भाषण देते समय सीएम ने अधिकारी से पूछा था। अगर मैं उस समय वहां पर होता तो उसके कान के नीचे बजा देता। सीएम उद्धव ठाकरे को लेकर दिये गये केंद्रीय मंत्री नारायण राणे के इस वक्तव्य के बाद पूरे राज्य में शिवसैनिक आक्रामक हो गए हैं। मुंबई के दादर इलाके में केंद्रीय मंत्री नारायण राणे को मुर्गीचोर बताते हुए बैनर लगाया गया है। शिवसैनिकों की तीव्र भावना को देखते हुए सांताक्रुज स्थित जुहू इलाके में नारायण राणे के बंगले के बाहर सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है। औरंगाबाद के शिवसेना नेता अंबादास दानवे ने नारायण राणे के विरोध में मामला दर्ज करवाना शुरू किया। महाराष्ट्र के कई पुलिस स्टेशनों में नारायण राणे के विरोध में मामला दर्ज करवाया जा रहा है।

शिवसेना नेता सुधाकर बडगुजर ने कहा कि आज वे शिवसैनिकों की बैठक आयोजित करने वाले हैं। बैठक में शिवसैनिक नारायण राणे के विरुद्ध आंदोलन की दिशा तय करेंगे। शिवसेना नेता विनायक राऊत ने कहा कि नारायण राणे को केंद्रीय मंत्री बनने के बाद बिना राग द्वेष के काम करना चाहिए। लेकिन नारायण राणे भारतीय जनता पार्टी को खुश करने के लिए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे व उनके परिवार के विरोध में निम्न स्तर पर बयानबाजी कर रहे हैं। इसे शिवसैनिक बर्दाश्त नहीं करेगा। दादर इलाके में पार्षद अमेय अरुण घोले ने नारायण राणे को कोंबड़ीचोर (मुर्गीचोर) बताते हुए बैनर लगाया है। उन्होंने बताया कि केंद्रीय मंत्री के तौर पर नारायण राणे की बयानबाजी से शिवसैनिकों की भावनाएं आहत हुई हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here