तीर्थ पुरोहितों ने भाजपा नेता को दौडाया,भाजपा नेता ने दीवार फांद छत पर चढ़कर बचाई जान

0
138


उत्तराखंड में देवस्थानम बोर्ड का विरोध कर रहे तीर्थ पुरोहितों का गुस्सा भाजपा नेता पंकज भट्ट पर फूट पड़ा। भीड़ ने उन्हें घेर लिया। इस दौरान उनसे धक्कामुक्की की गई। उन्हें किसी तरह भागकर जान बचानी पड़ी। वह तीर्थ पुरोहितों के आंदोलन को समर्थन करने पहुंचे थे, लेकिन तीर्थ पुरोहित उल्टे उनके पीछे पड़ गए। मामला रुद्रप्रयाग जिले का है।

उत्तराखंड के चारधाम की व्यवस्थाओं को देवस्थानम बोर्ड से मुक्त कराने की मांग को लेकर चारों धामों में तीर्थ पुरोहित, पंडा समाज, पुजारी आंदोलनरत हैं। देवस्‍थानम एक्ट को भंग करने के लिए लगातार पुजारी विरोध कर रहे हैं और प्रदर्शनों का दौर भी जारी है। गंगोत्री, यमुनोत्री, केदारनाथ और बद्रीनाथ के पुजारी इसका विरोध करते हुए धरने पर भी बैठ गए हैं। वहीं काली पट्टी बांध कर भी पुजारी इसका विरोध कर रहे हैं। मामले में केदार सभा व गंगोत्री के पंडा पुरोहितों ने भी याचिका दाखिल कर सरकार के फैसले का कोर्ट में विरोध किया, तो देहरादून की रुलेक संस्था ने सरकार के बचाव में अपनी याचिका दाखिल की। देवस्थानम् बोर्ड का विरोध कर रहे तीर्थपुरोहितो व हक हकूक धारियों का सब्र अब टूटता नजर आ रहा है।

रुद्रप्रयाग जिले में आज बुधवार को गुप्तकाशी, केदारनाथ व उखीमठ मे विरोध स्वरूप नारेबाजी के साथ आज विशाल प्रदर्शन किए गए। इस दौरान एसडीएम के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजे गए। इसमें देवस्थानम् बोर्ड को समाप्त करने की मांग रख गयी। इस बीच रुद्रप्रयाग के ऊखीमठ से भी बड़ी खबर आई। जहां देवस्थानम बोर्ड को भंग करने की मांग को लेकर तीर्थपुरोहितों का प्रदर्शन व रैली थी। वहीं तीर्थपरोहितों की विशाल रैली का समर्थन करने पहुचे भाजपा नेता पंकज भट्ट को तीर्थपरोहितों का भारी विरोध झेलना पड़ा।

भीड़ ने बीजेपी के नेता पंकज भट्ट को घेर लिया और इस दौरान उनके साथ धक्का-मुक्की करते हुए मारपीट की। पंकज किसी तरह से अपनी जान बचाते हुए कार में बैठे, लेकिन लोगों ने उनकी कार को आगे नहीं बढ़ने दिया। सुरक्षाकर्मियों ने भीड़ को संभालने का प्रयास किया, लेकिन वो भी नाकाफी दिखा। बाद में पंकज ने किसी तरह गाड़ी आगे बढ़ाई तो वो ऐसी जगह पर अटक गए जहां पर गाड़ी ले जाने का रास्ता नहीं था।
किसी तरह से पंकज अपनी कार से निकले और भाग कर पास की एक ऊंची दीवार को फांदा। बाद में वे वहां मौजूद घरों में होते हुए बच कर निकले और एक घर की छत पर चढ़कर जान बचाई। इस दौरान लगातार भीड़ उनके पीछे भागती रही और अपशब्द कहती रही। इस पूरे घटनाक्रम का वीडियो वहां मौजूद किसी व्यक्ति ने बना लिया और सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया। इसके बाद ये वीडियो तेजी से वायरल हो गया।
पंकज भट्ट ऊखीमठ में देवस्थानम बोर्ड को भंग करने की मांग को लेकर तीर्थपुरोहितों की रैली का समर्थन करने पहुंचे थे।

ऊखीमठ बाजार से तहसील तक तीर्थपुरोहितों की आक्रोश रैली थी। बताया जा रहा है कि तीर्थपुरोहितों की रैली का समर्थन करने पहुचे बीजेपी नेता पंकज भट्ट को देख तीर्थपुरोहित आग बबूला हो गए। दरअसल भाजपा नेता पंकज भट्ट पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज के काफी करीबी माने जाते हैं। ऐसे में जैसे ही तीर्थपुरोहितों को इसकी भनक लगी, उनका गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया। पूरे मामले में तीर्थपुरोहितों का कहना है कि भाजपा नेता ने तहसील गेट में जानबूझ कर गलत ढंग से गाड़ी लगाई थी ताकि रैली तहसील में न जा सके। वहीं भट्ट का कहना है कि बीते 2 सालों से कोरोना के चलते तीर्थपुरोहित यात्रा न होने से भी आक्रोशित हैं, साथ ही उन्होंने सरकार से देवस्थानम बोर्ड भंग करने की भी मांग की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here