दिल एवं सांस के मरीजों के लिए प्रातः 6 से 10 तक का समय बेहद घातक।

0
69


घर से बाहर निकलते समय 2 गज की दूरी तथा मास्क का रखें ख्याल

इन दिनों सर्दी सर्दी के बढ़ने के साथ ही बढ़ने लगी हार्ट व स्वास के मरीजों की संख्या। उम्रदराज लोगों के साथ-साथ स्वास एवं हार्ट के मरीजों कि लिए प्रातः 6: से 10 तक का समय बेहद हानिकारक ठंड में लापरवाही जीवन के लिए हो सकती है घातक सहारनपुर के विख्यात डॉ संजीव मिगलानी.
मीडिया से बातचीत में उन्होंने बताया कि प्रातः 6: से 10 तक का समय हृदय तथा स्वास के रोगियों के शरीर में कैटिकोलामीन का रिसाव बढ़ जाता है। जिसके चलते लोगों को बीपी बढ़ने के साथ-साथ ब्रैनहेमरेज हार्ट अटैक होने की संभावना बढ़ जाती है। कई बार ठंड में की गई लापरवाही मरीजों के लिए घातक सिद्ध हो जाती है। सर्दी बढ़ने के साथ-साथ अस्पतालों में हृदय गति ब्लड प्रेशर स्वास तथा दिल के मरीजों की संख्या सरकारी से लेकर निजी अस्पतालों तक में बढ़ ने लगी है। जनपद सहारनपुर के विख्यात एमडी गोल्ड मेडलिस्ट डॉक्टर संजीव मिगलानी ने लोगों से आग्रह करते हुए कहा कि हॉट एवं स्वास के मरीज प्रातः वाक् जाते समय सावधानी बरतें ऐसे मरीजों के लिए यह समय बेहद घातक है। उन्होंने वैश्विक महामारी कोविड-19 के चलते लोगों से आग्रह करते हुए कहा कि अपने स्वास्थ्य के प्रति लोग सजग रहें घर से बाहर निकलते समय सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन के अनुसार 2 गज दूरी तथा मास्क अवश्य लगाएं साबुन से बारी-बारी हाथ साफ करें उन्होंने कहा कि बढ़ती सर्दी में हाई बीपी जानलेवा है अधिक शराब का सेवन मानसिक तनाव डायबिटीज के मरीज अनुवांशिक अधिक वजन वाले और व्यायाम न करने वाले लोगों मे ब्लड प्रेशर अधिक पाया जाता है। उन्होंने बताया कि आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में 50% से अधिक लोगों में उच्च रक्तचाप का कोई लक्षण नहीं पाया जाता जबकि चेकअप कराने पर ही ब्लड प्रेशर बढ़ा हुआ आता है। सामान्य तौर पर उच्च रक्तचाप के लक्षण सिर में दर्द होना चक्कर आना उल्टी आना और छाती में दर्द होना मुख्य रूप से है पाया जाता है। बीपी बढ़ने से एंजाइना हार्ट अटैक अचानक धड़कन रुकने दिमाग की नस फटने पैरालाइसिस गुर्दे फेल होना हाथों और पैरों में सूजन आने के साथ जान जाने की संभावना अधिक बढ़ जाती है। ऐसे में बचाव एवं उपचार हाई ब्लड प्रेशर से बचाव के लिए नमक, मिर्च, मसालों का कम इस्तेमाल शराब धूम्रपान और मांसाहार के सेवन से बचना चाहिए उन्होंने कहा कि रोजाना करीब 30 मिनट तक व्यायाम करना चाहिए ब्लड प्रेशर और दिल के मरीज नियमित रूप से अपने दवाई समय पर लेते रहे दिल के रोगियों के लिए फरेज बहुत जरूरी है ऐसे रोगियों को जंग फ्रूट चिकन मटन अंडे अचार मक्खन दूध और मिठाई का सेवन नहीं करना चाहिए मरीजों को हरी पत्तेदार, सब्जियों सलाद, ताजे फल, साबुत और छिलके वाली दाल, ब्राउन, ब्रेड, जौ, लहसुन, और प्याज का अधिक सेवन करना चाहिए इससे ईनिविटी सिस्टम मजबूत होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here