देहरादून: एसटीएफ ने आशारोडी बार्डर पर तीन शूटर दबोचे, तीन पिस्टल और कारतूस बरामद

0
32

देहरादून। उत्तराखंड एसटीएफ को बड़ी सफलता मिली है। हरियाणा के कुख्‍यात रणदीप भाटी गैंग के तीन शूटरों को एसटीएफ ने हथियारों के साथ गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि लूट की वारदात को अंजाम देने के लिए देहरादून आ रहे थे। एसटीएफ को सूचना मिली थी दिल्ली का रणदीप भाटी गिरोह जोकि दिल्ली एनसीआर में सक्रिय रहता है और अपहरण, फिरौती और हत्या जैसे संगीन वारदातों को अंजाम देता रहा है। गिरोह के शार्प शूटर देहरादून किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने के लिए आ रहे हैं। सूचना पर एसटीएफ ने रायवाला, धर्मावाला, आशा रोड़ी और कुल्हाल बॉर्डर पर चेकिंग शुरू कर दी। आशारोड़ी बॉर्डर पर तैनात एसआई विपिन बहुगुणा व नरोत्तम बिष्ट की टीम ने सहारनपुर की तरफ से आ रही एक स्कॉर्पियो को रोका और चेकिंग की।

इसी दौरान वाहन में सवार तीन आरोपितों ने पुलिस से धक्का-मुक्की करते हुए भागने का प्रयास किया। पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया और उनसे तीन पिस्टल और भारी मात्रा में कारतूस बरामद किए। आरोपियों की पहचान हरपाल निवासी ग्राम गुर्जर माजरी, थाना बावल जिला रेवाड़ी हरियाणा, गौरव कुमार चंदीला निवासी ग्राम भटौला, खेड़ी पुल फरीदाबाद हरियाणा और गौरव कुमार निवासी ग्राम भगौट थाना चांदीनगर बागपत उत्तर प्रदेश के रूप में हुई है।पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि वह रणदीप भाटी गैंग के सदस्य हैं। 3 अक्टूबर को उन्होंने नोएडा बिट्टू थाना क्षेत्र में रणदीप भाटी के कहने पर सांगा पंडित नाम के व्यक्ति का अपहरण कर उसे जान से मारने का प्रयास किया, जिसमें वह तीनों फरार चल रहे हैं। गैंगस्टर रणजीत भाटी का मुख्य शूटर हरपाल ने फरवरी 2022 के दौरान अमन नाम के कॉल सेंटर संचालक का अपहरण कर 25000 की फिरौती मांगी थी जिसके बाद थाना हरी नगर पुलिस दिल्ली ने उसे गिरफ्तार कर लिया। वहीं शूटर गौरव चंदीला भी फरवरी 2020 में हत्या के प्रयास में जेल जा चुका है। तीनों बदमाशों ने बताया कि वहां लूट की योजना बनाकर देहरादून आ रहे थे, देहरादून आकर उन्हें रेकी करनी थी और किसी पेट्रोल पंप या व्यापारी का अपहरण करना था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here