पौड़ी भाजपा कार्यालय में भुगतान को लेकर भाजपाइयों में जमकर कहासुनी और मारपीट

0
41

देहरादून। 14 फरवरी को प्रदेश में विधानसभा चुनाव संपन्न होने के बाद भी राज्य की दोनों प्रमुख पार्टियों कांग्रेस एवं भाजपा में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। कांग्रेस ने जहां आज ही रूद्रप्रयाग जिले में 10 कांग्रेसियों को पार्टी विरोधी गतिविधियों में लिप्त रहने के कारण 6 वर्ष के लिए निष्कासित किया है तो वहीं भाजपा भी इस सब से अछूती नहीं है।

मतदान के अगले दिन ही लक्सर से भाजपा प्रत्याशी संजय गुप्ता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक पर उन्हें हरवाने के लिए काम करने का आरोप लगाकर राजनीतिक गलियारों में भयंकर हलचल मचा चुके हैं। वहीं भाजपा की चुनाव प्रचार सामग्री का कूड़े के ढेर में मिलने का मामला भी खूब सुर्खियों में छाया हुआ है। कुमाऊँ के भी दो भाजपा प्रत्याशी भी चुनाव में अपने साथ भितराघात होने का आरोप पार्टी नेताओं एवं कार्यकर्ताओं पर लगा चुके हैं। इस सबके बीच पार्टी हाईकमान ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी एवं प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक को दिल्ली दरबार में तलब कर लिया है।

अब ताजा मामला पौड़ी जिले से सामने आया है। जहां पार्टी कार्यालय में भाजपा नेताओं के बीच जबरदस्त मारपीट एवं तोड़फोड़ की खबर सामने आई है। चुनाव में खर्च की धनराशि को लेकर पौड़ी भाजपा कार्यालय में कार्यकर्ताओं एवं नेताओं के बीच जमकर विवाद हुआ है। आक्रोशित कार्यकर्ताओं ने पार्टी प्रत्याशी का चुनाव प्रबंधन देख रहे नेताओं पर चुनाव में खर्च हुई धनराशि का भुगतान नहीं करने का आरोप लगाया है।

मीडिया में चल रही खबरों के अनुसार पौडी भाजपा कार्यालय में भाजपा कार्यकर्ता सुरेंद्र सिंह नेगी, विकास चौहान और विकास नेगी ने पार्टी प्रत्याशी का चुनाव प्रबंधन देख रहे नेताओं पर उनका भुगतान नहीं करने का आरोप लगाया देखते ही देखते कार्यकर्ताओं और नेताओं के बीच पहले नोकझोंक शुरू हो गई जिसके बाद नेताओं एवं कार्यकर्ताओं के बीच जमकर धक्का-मुक्की हुई जिसमें पार्टी की कुर्सियां तक टूट गई। अन्य नेताओं ने बड़ी मुश्किल से किसी तरह मामले को शांत कराया। नाराज कार्यकर्ताओं ने कहना था कि पार्टी ने प्रचार के वास्ते छह दिन के लिए वाहन बुक किए थे। जिसके लिए प्रतिदिन ₹1000 नकद एवं तेल के खर्च का भुगतान किया जाना तय हुआ था। लेकिन मतदान प्रक्रिया समाप्त होने के 3 दिन बाद भी चुनाव प्रचार में हुए खर्च की धनराशि का भुगतान नहीं किया जा रहा है।

वहीं दूसरी ओर भाजपा नेताओं का कहना है कि कुछ कार्यकर्ता फर्जी बिल लेकर भुगतान के लिए पार्टी कार्यालय आए थे जिसका भुगतान नहीं किया जा सकता था। भाजपा जिला अध्यक्ष ने बताया कि कार्यालय में हुए विवाद की जानकारी ली जा रही है। किसी भी कार्यकर्ता द्वारा अनुशासनहीनता का मामला सामने आने पर कार्यवाही की जाएगी। पौडी के भाजपा कार्यालय में हुई नोकझोंक और मारपीट पूरे क्षेत्र में चर्चा का विषय बनी हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here