सहस्रधारा में हुई प्रवीन भंडारी की हत्या का खुलासा, हत्यारोपी अनीस गिरफ्तार

0
167

शराब पीने के बाद दोस्त ने ही मारपीट के बाद नदी में दिया था धक्का

देहरादून। सहस्त्रधारा में बल्दी नदी किनारे मिले युवक प्रवीण भंडारी हत्याकांड का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। पुलिस ने मामले में मृतक के दोस्त अनीस पुत्र मुन्नालाल को गिरफ्तार कर लिया है।

अजय भंडारी पुत्र नरेंद्र भंडारी निवासी सेरा गांव, सहस्रधारा ने थाना राजपुर पुलिस को अपने 20 वर्षीय भाई प्रवीण भंडारी की गुमशुदगी दर्ज कराई थी। जो कि बुधवार शाम से घर नही लौटा था। जिसके बाद पुलिस के साथ ही फरिजनों एवं क्षेत्रवासियों ने प्रवीण की तलाश शुरू कर दी। प्रवीण भंडारी का शव गुरूवार को सहस्त्रधारा की बल्दी नदी से बरामद हुआ था।

हत्याकांड के खुलासे के लिए एसएसपी देहरादून के आदेशानुसार एसपी सिटी व CO डालनवाला के निर्देश पर एक टीम गठित की गई । दौरान विवेचना टीम को गांव वालों व मुखबिरों से सूचना प्राप्त हुई कि घटना की पूर्व रात्रि मृतक प्रवीण अपने दोस्त अनीस पुत्र मुन्नलाल निवासी सेरा गांव, सहस्रधारा के साथ माध्यमिक विद्यालय चामासरी सेरा गांव में बैठकर शराब पी रहा था। परन्तु गांव वालों के आने पर मृतक प्रवीन भण्डारी स्कूल से कूदकर भाग गया। उसके बाद से ही मृतक कहीं नहीं दिखा। इस पर पुलिस ने सहस्रधारा क्षेत्र में लगे सीसीटीवी कैमरों को चैक करने के साथ ही मृतक के फोन नम्बर की सीडीआर का अवलोकन किया गया। मृतक प्रवीण के दोस्त अनीस से सख्ती से पूछताछ की गयी तो उसके द्वारा बताया गया कि प्रवीण की हत्या मेरे द्वारा ही की गयी है।

हत्या का कारण पूछने पर अनीस ने बताया कि मै महिन्द्रा पिकअप का चालक हूँ। प्रवीन मेरा दोस्त था और मैने ही उसे वाहन चलाना सिखाया था। कई बार मेरी गाड़ी टकराने पर लोगो ने मुझे ड्राईवर रखना छोड़ दिया और प्रवीन मेरे से ही गाड़ी सीखकर पिकअप चलाने लगा। काम न मिलने पर मैंने प्रवीन की गाड़ी में मजदूरी शुरु कर दी और गाड़ी में माल लोड अनलोड करने का काम करने लगा। लोग मुझे चिढाते थे कि चेला ड्राईवर बन गया और गुरु, चेले की गाड़ी में मजदूरी कर रहा है। प्रवीन का व्यवहार मेरे प्रति सही नही था और वह मुझे गाली गलौच करता था। इन बातों से मेरे दिल में प्रवीन के प्रति बहुत नफरत थी। कल मेरा और प्रवीन का दारू पीने का प्रोग्राम बना। मैं और प्रवीन दारू लेकर सरकारी स्कूल में शराब पी रहे थे। बीच में हमारी पुरानी बातो के कारण कहांसुनी शुरु हो गयी। तभी वहां गांव वाले आ गये और प्रवीन वहां से भाग गया। गांव वालों ने मुझे डांटकर व आईन्दा स्कूल में शराब न पीने की हिदायत देकर घर भेज दिया। घर जाने के बाद मेरी प्रवीन से फोन पर बात हुई और वह मुझे गाली गलौच देने लगा। उसने मुझे धमकी देते हुये कहा कि नीचे ईश रिजार्ट पर आजा मैं तुझे बताता हूँ।

पुरानी बातों के कारण मुझे प्रवीन से अत्यधिक नफरत थी और दारू के नशे में मैं भी तैश में आ गया और मैंने कहा तू वहीं रुक मै आ रहा हूँ। जब मै ईश रिजार्ट से पहले सड़क पर पहुंचा तो वहां प्रवीन मुझे मिला मैं उसे बातों में लगाकर नदी के उपर के खेत में ले गया। वहां हमारी दोबारा कहा सुनी शुरु हो गयी। प्रवीन ने मुझे जाति सूचक शब्द कहकर माँ बहन की गाली दी और थप्पड़ मारे जिस पर मैने भी उस पर जवाबी हमला किया हम दोनो गुथ्थम गुथ्था हो गये मैने प्रवीन को जोर से धक्का दिया तो वह खेत से 40-50 फुट नीचे बल्दी नदी में गिया गया।

उसके नदी में गिरने की आवाज मैंने सुनी और मै वहां से भागकर सहस्त्रधारा बाजार में आ गया और वहां से बाईक में लिफ्ट लेकर अपने घर चला गया। अभियुक्त द्वारा अपने जुर्म का इकबाल करने पर पुलिस टीम द्वारा अभियुक्त को गिरफ्तार कर लिया गया है। जिसको आज न्यायालय में पेश किया जायेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here