UKSSSC : पेपर लीक मामले में एक पूर्व मुख्यमंत्री के OSD भी एसटीएफ के रडार पर

0
33

देहरादून। कल देहरादून में हुई तीन बड़े अधिकारियों की गिरफ्तारी UKSSSC पेपर लीक भर्तियों की धांधली में अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई मानी जा रही है। धांधली के तालाब के इन मगरमच्छों पर शिकंजा कसने के लिए एसटीएफ ने तैयारियां भी पूरी की हुई थी। कई वीआईपी की गवाही भी हो चुकी है। कुछ और जांच के दायरे में आए हैं। सूत्रों के मुताबिक, एक पूर्व मुख्यमंत्री के ओएसडी भी एसटीएफ के रडार पर हैं। इनसे भी जल्द पूछताछ की जाएगी। शुरुआत में इन्हें भी सरकारी गवाह बनाए जाने की बात चल रही है। वहीं एक मंडी समिति के पूर्व अध्यक्ष भी एसटीएफ के रडार पर बताए जा रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक दोनों के खिलाफ एसटीएफ किसी भी समय कार्रवाई कर सकती है।

बता दें कि कल शनिवार को पकड़े गए तीनों आरोपी सरकार में बड़ी पैठ रखते हैं। इनकी गिरफ्तारी से सरकारी तंत्र में भी जबरदस्त हलचल मच गई है। अब तक जिन संबंधों को गुपचुप तरीके से कहा जा रहा था, अब वह सार्वजनिक हो गए हैं।

आरबीएस रावत के राजनीतिक लोगों से गहरे ताल्लुकात थे। यही कारण था कि उन पर किसी ने हाथ नहीं डाला। अब जब रावत पर शिकंजा कसा गया है तो इसके लिए बड़ी योजना के तहत काम हुआ है ऐसा माना जा रहा है। विश्वस्त सूत्रों के मुताबिक, इस मामले में ज्यादातर लोगों को सरकारी गवाह बनाया गया है ताकि केस को और मजबूत बनाया जा सके। एसटीएफ ने इस पूर्व अधिकारी को सरकारी गवाह बना लिया है। इससे पूछताछ के आधार पर एसटीएफ के सामने एक पूर्व सीएम के ओएसडी का नाम भी सामने आया। सूत्रों के मुताबिक, एसटीएफ उनकी भी जांच कर रही है। पूर्व ओएसडी से भी पूछताछ की जायेगी।

“अस्तित्व टाइम्स” उत्तराखंड तथा देश-विदेश की ताज़ा ख़बरों व समाचारों का एक डिजिटल माध्यम मात्र है। अपने विचार या ख़बरों को प्रसारित करने हेतु हमसे संपर्क करें।
9927663844
ast.times@gmail.com

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here