पूर्व पीएम चौधरी चरण सिंह की पुण्यतिथि पर श्रध्दांजलि और विचार गोष्ठी का आयोजन

0
238

देहरादून। पूर्व प्रधानमंत्री स्व: चौधरी चरण सिंह की पुण्यतिथि पर शिमला रोड मेहूवॉला माफी में विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया और चौधरी चरण सिंह की फोटो पर पुष्प अर्पित कर भावभीनी श्रद्धांजली दी गयी।

  विचार गोष्ठी में पूर्व प्रधानमंत्री स्व०चौधरी चरण सिंह जी के जीवन पर प्रकाश डालते हुये सपा के पूर्व जिला अध्यक्ष गुलफाम अली ने कहा कि सरकारी सिस्टम में व्यापक भरष्टाचार को देखने के लिये प्रधानमंत्री रहते हुए चौधरी चरण सिंह जी ने किसान का भेष बदलकर बिना किसी सरकारी तामझाम के रात मे थाने मे पहुंचकर भैंस चोरी की रिपोर्ट लिखने को कहा तो डयूटी पर उपस्थित दरोगा ने डांटकर थाने से बाहर जाने को कहा, मौका भांपकर गेट पर तैनात सन्तरी ने पांच सौ रूपये रिश्वत मॉग कर रिपोर्ट लिखवाने को कहा, जिसपर चौधरी चरण सिंह राजी हो गये जब थाने के मुंशी ने रिपोर्ट पर साईन करने को कहा तो चौधरी चरण सिंह ने प्रधानमंत्री की मोहर लगाई तो पूरे थाने के होश उड गये, आज के प्रधानमंत्री जी को चौधरी चरण सिंह जी के जीवन से प्रेरणा लेनी चाहिए।

 विचार गोष्ठी को सम्बोधित करते हुए, समाजवादी पार्टी उतराखण्ड के प्रदेश महासचिव डाक्टर आर के पाठक ने कहा कि स्वॉ० चौधरी चरण सिंह जी किसानो के मसीहा थे, उनको पता था कि किसान देश की अर्थव्यवस्था की रीढ है और देश मे सबसे ज्यादा रोजगार कर्षि से ही मिलता है, वह किसान के घर में पैदा हुए, इसलिए उनको किसान की महत्ता का पता था, उनको पता था कि किसान मजबूत होगा तो देश मजबूत होगा, यह पहले साल लगे लॉक डाउन मे साबित हो गया है, हम सबको चौधरी चरण सिंह जी के जीवन से प्रेरणा लेनी चाहिए।

  कार्यक्रम में मुख्य रूप से सपा के पूर्व जिला अध्यक्ष गुलफाम अली, प्रदेश प्रमुख महासचिव डाक्टर आर के पाठक, जिला कोषाध्यक्ष शशि कुमार यादव, जिला उपाध्यक्ष हारून सलमानी, धर्मपुर समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष मुहम्मद जुलफुकार अली, समीर मलिक, नबाब सलमानी, अमीर अहमद, सतीष शर्मा आदि मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here