हिस्ट्रीशीटर जितेंद्र रावत उर्फ जित्ती साथियों सहित गिरफ्तार

0
360

देहरादून, थाना रायपुर पर गुरुवार 8 अप्रैल को वादिनी आरती कुमारी पत्नी एस बी कुमार निवासी बल्लूपुर रोड द्वारा एक प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज कराई गई कि शिकायतकर्ता की एक भूमि लाडपुर रिंग रोड पर है जिस पर शिकायतकर्ता द्वारा वर्ष 2017 में बाउंड्री वाल कर दी गई थी एवं पिछले साल 3 अप्रैल 2020 को शिकायतकर्ता जब भूमि पर देखरेख कर रही थी उसी समय क्षेत्र का एक बदमाश जिसका नाम जितेंद्र रावत और जित्ती अपने कुछ साथियों के साथ आया एवं वादिनी को धमकी भरे लहजे में कहा कि मैं एक बदमाश हूं और यह जमीन खाली कर दो अन्यथा अंजाम बुरा होगा तत्पश्चात वादिनी उस दिन अपने घर चली गई। बीती 7 अप्रैल को उक्त जितेंद्र रावत उर्फ जित्ती अपने कुछ साथियों के साथ वादिनी की भूमि पर गया एवं वादिनी के तार बार को क्षतिग्रस्त कर दिया। जब वादिनी ने यह सब देखा तो उसके द्वारा वादिनी को भयभीत किया गया एवं अपने बदमाश होने का खौफ दिखाकर जबरन वादिनी की भूमि में से 1 बीघा भूमि अपने नाम करने की धमकी दी गई अथवा हत्या करने की धमकी दी गई।

वादिनी की शिकायत पर थाना रायपुर पर तुरंत अभियोग पंजीकृत किया गया मुकदमे की विवेचना प्रारंभ की गई। एसएसपी देहरादून डॉ योगेन्द्र सिंह रावत द्वारा घटना का संज्ञान लेते हुए शातिर अपराधी के विरूद्ध सख्त से सख्त कार्रवाई करने का आदेश दिया। एसपी सिटी सरिता डोबाल के निर्देशन एवं क्षेत्राधिकारी नेहरू कॉलोनी महोदय के पर्यवेक्षण में उक्त मुकदमे के अनावरण एवं अनावरण करने के संबंध में साक्ष्य संकलन हेतु थाना स्तर पर टीम गठित की गई। गठित टीम द्वारा आज शनिवार को साक्ष्य संकलन कर जानकारी जुटाई गई एवं अन्य कई लोगों के बयान संकलित किए गए जिनमें यह पाया गया कि जितेंद्र रावत उर्फ जित्ती पुत्र लखपत सिंह रावत निवासी रिंग रोड एक शातिर अपराधी है एवं जिस पर हत्या लूट फिरौती के कई मुकदमे दर्ज हैं एवं वर्तमान में नेहरू कॉलोनी थाने का शातिर हिस्ट्रीशीटर है जो कुछ दिनों पूर्व भी हत्या के इस मामले में जमानत पर बाहर आया हुआ है एवं जमानत पर बाहर आते ही उक्त अपराधी द्वारा अपना एक गिरोह तैयार कर लिया गया है। जिसमें कुछ हरियाणा के शातिर अपराधियों को सम्मिलित किया गया है एवं अपराधियों द्वारा मिलकर देहरादून में विवादित जमीनों को चिन्हित किया जा रहा है एवं विवादित जमीन में भू स्वामियों को धमका कर अपना भय दिखा कर जमीन पर कब्जा करने का प्रयास किया जा रहा है एवं हत्या की धमकी दी जा रही है।

उक्त प्रकरण के संबंध में वरिष्ठ अधिकारी गणों के निर्देशानुसार एसओजी टीम एवं थाना रायपुर की टीम द्वारा शातिर अपराधी जितेंद्र रावत को पूछताछ हेतु रेसकोर्स क्षेत्र से नेहरू कॉलोनी एसओजी कार्यालय पर पूछताछ की गई एवं विवेचना के दौरान ही पूछताछ एवं अन्य साक्ष्यों के आधार पर जितेंद्र रावत के 5 अन्य साथियों को भी पूछताछ हेतु एसओजी कार्यालय पर लाया गया सभी से गहनता से पूछताछ की गई साक्ष्य संकलन किए गए साक्ष्य संकलन गवाहों के बयान पूछताछ के आधार पर यह पाया गया कि और जितेंद्र रावत उर्फ जित्ती अपने पांच साथियों के साथ मिलकर एक गिरोह तैयार कर भूमाफिया बनकर विवादित जमीनों पर कब्जा करने का प्रयास कर रहा है एवं भू स्वामियों को डरा धमकाकर उगाही कर रहा है।

जितेंद्र रावत उर्फ जित्ती का एक साथी पंचकूला से हिस्ट्रीशीटर एवं शातिर अपराधी है जिसके विरूद्ध हत्या लूट फिरौती के पंचकूला में कई मामले दर्ज हैं जिसके आपराधिक इतिहास की जानकारी की जा रही है। अभियुक्त गणों से एक इंडीवर कार एवं एक सफारी कार भी बरामद हुई है जिनके अभियुक्त गणों के पास कोई वैध कागजात नहीं है उक्त दोनों लग्जरी गाड़ियों को भी सीज कर दिया गया है।

पुलिस द्वारा गिरफ्तार छह अभियुक्त जितेंद्र रावत उर्फ जित्ती लखपत सिंह रावत निवासी नेहरू ग्राम नत्थनपुर जनपद देहरादून, नवीन कुमार पुत्र महावीर सिंह निवासी किवाना थाना समालखा जिला पानीपत हरियाणा उम्र 28 वर्ष, शीशपाल सैनी पुत्र अरविंद कुमार सैनी निवासी इंदिरा कॉलोनी सेक्टर 16 हाउस नंबर 55 पंचकूला हरियाणा, प्रशांत पुत्र मोहनलाल निवासी गोविंदपुरी वाल्मीकि बस्ती यमुनानगर हरियाणा उम्र 26 वर्ष, हनी वर्मा पुत्र तेजपाल वर्मा निवासी इंदिरा कॉलोनी हाउस नंबर 207 जंदली अंबाला सिटी हरियाणा उम्र 28 वर्ष और गुरु लाल सिंह पुत्र बलवीर सिंह निवासी कामी खुर्द थाना कन्नौर जिला पटियाला पंजाब हैं।थाना रायपुर पुलिस टीम द्वारा शातिर अपराधी जितेंद्र रावत जित्ती एवं उसके पांच साथियों को धारा 386/147 /148/ 504 / 506 427 के तहत गिरफ्तार किया गया एवं सभी को कल समय से न्यायालय में पेश किया जाएगा।

बरामद लग्जरी कार सफारी के संबंध में जानकारी करने पर प्राप्त जानकारी प्राप्त हुई कि उक्त कार कुछ दिनों पूर्व नेहरू कॉलोनी क्षेत्र में हुए हत्याकांड में मृतक राजू बॉक्सर की है जिसकी हत्या के बाद जमानत और छूटने पर जित्ती ने यह कार अपने भय के दम पर अपने पास रख ली है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here