कांग्रेस पंचायत प्रकोष्ठ के पूर्व अध्यक्ष सूरत सिंह नेगी ने रायपुर से निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में किया नामांकन

0
86

देहरादून। उत्तराखंड में 14 फरवरी को होने जा रहे विधानसभा चुनाव की सरगर्मियां अपने चरम पर पहुंच चुकी हैं। एक ओर जहां नेताओं का एक दल से दूसरे दल में जाने का और आने का सिलसिला बदस्तूर जारी है तो वहीं कई ऐसे लोग भी हैं जो चुनावी मैदान में निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में अपनी ताल ठोक रहे हैं। ऐसे ही आज कांग्रेस पंचायत प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष पूर्व जिला पंचायत सदस्य सूरत सिंह नेगी ने भी निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में रायपुर विधानसभा क्षेत्र से अपना नामांकन पत्र दाखिल किया है।

रायपुर विधानसभा क्षेत्र से सूरत सिंह नेगी ने निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में नामांकन पत्र दाखिल करने के बाद अपने समर्थकों की एक बैठक बुलाकर सभी से तन मन से चुनाव प्रचार में उतरने का आह्वान किया है। यदि कांग्रेस अपने इस रूठें सिपाही को नहीं मना पाई तो निश्चित रूप से इसका नुकसान पार्टी को उठाना पड़ेगा। क्योंकि रायपुर विधानसभा के ग्रामीण क्षेत्रों में सूरत सिंह नेगी का मजबूत जनाधार माना जाता है।

सूरत सिंह नेगी ने बताया कि वह पिछले 3 दशक से भी अधिक समय से कांग्रेस पार्टी की तन मन धन से सेवा कर रहे हैं। परंतु पिछले तीन विधानसभा चुनाव 2012, 2017, एवं 2022 विधानसभा चुनाव के लिए टिकट मांगने के बावजूद पार्टी ने लगातार उनकी अनदेखी करने का काम किया है। जिसके बाद आज उन्होंने निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में नामांकन पत्र दाखिल किया है। नेगी ने बताया कि बड़ी संख्या में क्षेत्रवासी लगातार उन पर निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव मैदान में उतरने का दबाव बना रहे थे। जिसकी वह अनदेखी नहीं कर पाए और निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में नामांकन पत्र दाखिल कर दिया।

अपनी प्राथमिकताओं को लेकर सूरत सिंह नेगी ने कहा कि वह बीते 35 सालों से भी अधिक समय से राजनीति में सक्रिय हैं। ऐसे में उन्हें अपने क्षेत्र का विकास की काफी चिंता है। लेकिन पार्टी द्वारा लगातार अनदेखी के बाद उन्होंने विधानसभा चुनाव के लिए निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में ताल ठोकी है। उन्होंने कहा कि उनकी प्राथमिकताएं बेहतर स्वास्थ्य, शिक्षा, सड़क और रोजगार रहेंगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here