राजभवन देहरादून में पुष्प प्रदर्शनी का आयोजन 8 एवं 9 मार्च को, आमजन भी हो सकेंगे शामिल

0
133

उत्तराखण्ड के लोकपर्व फूलदेई के आयोजन से होगा वसन्तोत्सव का शुभारम्भ

शहद उत्पादन, इत्र, ऐरामेटिक पौधों, औषधीय जड़ी बूटियों को प्रोत्साहित किया जाएगा

फूलो के प्रदर्शन के साथ ही गमलों पर भी होगा फोकस

दून के विभिन्न चौराहों पर फूलों के गुलदस्ते बेचने वाले छोटे कारीगर भी प्रतिभाग कर सकेंगे

राज्यपाल की अध्यक्षता में हुई बैठक में लिए गए निर्णय

देहरादून। इस वर्ष राजभवन में वसंतोत्सव का आयोजन 8 व 9 मार्च को किया जाएगा। शुक्रवार को राज्यपाल लेफ्रिटनेट जनरल गुरमीत सिंह ;से निद्ध की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में वसंत उत्सव के आयोजन के संबंध में विभिन्न निर्णय लिए गए।

राज्यपाल के निर्देशानुसार इस वर्ष उत्तरा खण्ड के प्रसिद्ध लोकपर्व फूलदेई के आयोजन के साथ राजभवन में वसन्त उत्सव का शुभारम्भ किया जाएगा। इस अवसर पर नन्ही बालिकाओं ने राजभवन प्रांगण में फूलदेई पर्व की औपचारिकताएं पूरी की जाएगी तथा उत्तरा खण्ड के लोकगीतों के साथ राज्यपाल का स्वागत किया जाएगा। इस वसंत उत्सव में 5 वर्ष से 18 वर्ष आयु वर्ग के सभी स्कूली बच्चों के लिए पेंटिग प्रतियोगिता का भी आयोजन किया जाएगा। इस चित्रकला प्रतियोगिता में विभिन्न अनाथालयों में रहने वाले बच्चों, दिव्यांग बच्चों तथा रैग पिकर्स बच्चों को भी विशेष रूप से आमंत्रित किया जाएगा। पेंटिग प्रतियोगिता के लिए 21 पुरस्कारों की घोषणा की गई है। राज्यपाल बच्चों को सम्मानित करेंगे तथा उनका उत्साहवर्धन करेंगे।
इस वर्ष फूलों की प्रदर्शनी के साथ ही विभिन्न प्रकार के सजावटी गमलों की प्रदर्शनी भी आकर्षण का मुख्य केन्द्र रहेगी ताकि गमले बनाने वाले कारीगरों व छोटे उद्यमियों को प्रोत्साहन मिल सके। इसमें 8 इंच 10 इंच और 12 इंच के गमलों की तीन श्रेणियों में प्रतियोगिता का आयोजन भी किया जाएगा।

बैठक में सचिव डॉ. मीनाक्षी सुन्दरम निदेशक उद्यान एवं खाद्य प्रसस्कंरण विभाग डाॅण् एचएस बावेजा सहित पर्यटन उद्यान आईटीबीपी आईएमए ओएनजीसी आईएचएम जीएमवीएन पर्यटन मौसम भारतीय डाक वन विभाग पुलिस संस्कृति वित्त तथा उद्यान विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों सहित विभिन्न केन्द्रीय एवं राजकीय विभागों व संस्थानों के वरिष्ठ प्रतिनिधि आदि भी उपस्थित थे।

कई प्रतियोगिताएं होंगी आयोजित
व्यावसायिकए निजी पुष्प उत्पादकों सहित विभिन्न सरकारी उद्यानों की पुष्प प्रदर्शनी एवं प्रतियोगिताए पुष्प आधारित रंगोली प्रतियोगिताएं भी आयोजित होगी। फूलों तथा प्राकृतिक सौन्दर्य पर आधारित फोटो प्रदर्शनीए पेंटिंग तथा विशेष डाक टिकटों की प्रदर्शनी भी लगायी जायेगी। पुष्प प्रदर्शनी प्रतियोगिता के लिए विभिन्न श्रेणियों की कई प्रतियोगिताएं प्रस्तावित हैं जिनमें कट फ्रलावर पौटेड प्लांट अरेंजमैंट लूज फ्रलावर अरेंजमैंट हैंगिंग पॉट्स जैसी सभी प्रतियोगिताओं के साथ.साथ ऑन द स्पॉट फोटोग्राफी भी आयोजित होगी।

दोनों दिन आम जनता के लिए खुली रहेगी पुष्प प्रदर्शनी
पुष्प प्रदर्शनी आम जनता के लिए 8 मार्च को दोपहर 12 बजे से सांय 6 बजे तक तथा 9 मार्च को सुबह 10 बजे से सांय 6 बजे तक खुली रहेगी। इस वर्ष कुल 13 श्रेणियों में 147 पुरस्कार वितरित किए जाएंगे। 8 मार्च को ही सायं संस्कृति विभाग के सौजन्य से लोक कलाकारों द्वारा राज्य की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत की झलक प्रस्तुत की जायेगी। फूलों की होली सांस्कृतिक कार्यक्रमों की थीम होगी। आईटीबीपी आईएमए बैण्ड के साथ ही अन्य विशिष्ट प्रदर्शनों द्वारा आकर्षक प्रस्तुति दी जाएगी। उत्सव में 33 विभाग व संस्थाएं प्रतिभाग करेंगी। राज्यपाल ने 92 केन्द्रीय संस्थानों को भी इस आयोजन में सम्मिलित करने के निर्देश दिए। 9 मार्च को ष्पुष्प प्रदर्शनीष् के अन्तर्गत आयोजित विभिन्न प्रतियोगिताओं के विजेता प्रतिभागियों को राज्यपाल द्वारा पुरस्कृत करने के साथ ही दो दिवसीय कार्यक्रम का समापन होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here