देहरादून: पार्षद की गिरफ्तारी नही होने से नाराज बिजलीकर्मी कार्य बहिष्कार कर धरने पर बैठे

0
192

देहरादून। नगर निगम के वार्ड नंबर 60 डांडा लाखौंड के पार्षद अभिषेक पंत एवं समर्थकों द्वारा आईटी पार्क स्थित बिजलीघर में तैनात मोहन चंद्र पाठक के साथ की गई अभद्रता एवं हाथापाई के विरोध मे आज कार्यालय में तालाबंदी कर अभिषेक पंत की गिरफ़्तारी की मांग को लेकर कर्मचारियो ने सांकेतिक धरना दिया। उन्होंने कहा कि तीन दिन बीत जाने के बावजूद पंत को गिरफ़्तार नही किया गया है। साथ ही चेतावनी कि यदि अतिशीघ्र पार्षद की गिरफ़्तारी नही हुई तो बड़ा आन्दोलन शुरु किया जाएगा।

एमसी पाठक द्वारा थाने में दी गई तहरीर

सेवा में
थानाध्यक्ष राजपुर, देहरादून।
विषय- प्रार्थी के साथ मारपीट एवं जान से मारने की धमकी देने के सम्बन्ध में।
महोदय
उपरोक्त विषयक आपको अवगत कराना है कि आज दिनांक 25.03.2023 को पूर्वान्ह समय लगभग 10:00 प्रार्थी अपने कार्यालय पर अपनी ड्यूटी कर रहा था तभी एक महिला द्वारा नये संयोजन हेतु आवेदन-पत्र के साथ दस्तावेज लगाये जाने हेतु मेरे से जानकारी ली गयी जिसमें मेरे द्वारा उन्हें उनके परिसर के उि दस्तावेज उपलब्ध कराये जाने हेतु कहा गया। तदोपरान्त उक्त महिला द्वारा अपने क्षेत्र के पार्षद श्री अभिषेक पत से दूरभाष पर मुझसे बात कराई गयी मेरे द्वारा उनसे यह बोला गया कि उपरोक्त संयोजन हेतु सम्बन्धित दस्तावेज आवश्यक है अन्यथा भविष्य में सम्पूर्ण दस्तावेज उपलब्ध न होने पर मुझपर विभागीय कार्यवाही हो सकती है। जिसपर उनके द्वारा मुझसे अभद्र व्यवहार करते हुए धमकाया जाने लगा जिसपर मेरे द्वारा फोन उक्त महिला को वापस कर दिया गया।

इस सम्बन्ध में आपको यह भी अवगत कराना है कि समय 10. 30 मिनट पर श्री पंत एवं अन्य 5 अज्ञात व्यक्ति कार्यालय में आए एवं बिना बात के मारपीट एवं गाली गलौज करने लगे एवं मेरे सिर पर वार करते हुए मेरे चश्मे समेत अन्य सरकारी दस्तावेजों को फेंक दिया गया। जिसमें न केवल मेरा चश्मा टूटा बल्कि मेरे सिर तथा सीने पर लगातार वार करते हुए मुझे जान से मारने की धमकी देते रहे इसमें न केवल में जमीन पर गिर पड़ा मेरे शरीर के सिर, सीने एवं अनेक जगह पर वार किया गया। श्री पंत के द्वारा मेरे मेज पर रखी गय समस्त फाइलें तथा अन्य पत्रावलियां फाड़ एवं फेंक दी गयी। मुझे बचाने हेतु कार्यालय में उपस्थित कर्मचारी श्री अरशद अली श्री बिरेन्द सिंह नेगी, श्री अंकित ढंगवाल बीच बचाव करते रहे परन्तु श्री अभिषेक एवं उनके साथ आये 5 अज्ञात व्यक्ति लगातार धमकी एवं गाली गलौच के साथ मारपीट करते रहे तत्पश्चात श्री दीपक चन्दोला, अवर अभियन्ता द्वारा उन्हें कार्यालय से बाहर ले जाया गया फिर भी उनके द्वारा बाहर निकलने पर जिन्दा न छोड़ने की धमकी भी दी जा रही थी जिससे प्रार्थी कार्यालय से बाहर निकलने तथा कार्यालय में कार्य करने में भयभीत है एवं मेरे साथ किसी भी प्रकार की अनहोनी हो सकती है। मेरे द्वारा विगत 5 वर्षों से आई०टी०पार्क उपखण्ड कार्यालय में एस०डी०सी० के पद पर ईमानदारी एवं पूर्ण निष्ठा के साथ कार्य किया जा रहा है जोकि इन भयभीत परिस्थितियों में कार्य सम्पूर्ण क्षमता से किया जाना संभव नहीं हो पायेगा। किन्तु इस प्रकार के घटना क्रम होने से मैं अत्यन्त भयभीत हूँ जिस कारण में अपने कार्य को भली-भाँति करने में असहाय सा महसूस कर रहा हूँ साथ ही अन्य कर्मचारियों में भी भय का माहौल बना हुआ है।

महोदय मुझे श्री पंत एवं उनके साथ आये अन्य 5 अज्ञात व्यक्तियों से न केवल जान का खतरा है बल्कि कार्यालय के पत्रों के गुम होने का भी अंदेशा है। क्योंकि जब इनके द्वारा मेरे साथ मारपीट की जा रही थी तो पत्रावलियों को भी फाड़ एवं फेंकते हुए धमकी दी जा रही थी कि जब तक तुम इस कार्यालय में कार्य करते रहोगे तब तक तुम्हारे साथ ऐसे ही मारपीट की जायेगी। अतः आपसे अनुरोध है कि आप श्री अभिषेक पंत एवं अन्य 5 अज्ञात व्यक्तियों के विरूद्ध सरकारी कार्यालय में आकर सरकारी कर्मचारी से मारपीट एवं जान से मारने की धमकी तथा कार्यालय पत्रावली को फाड़ने तथा फेंकने वा सरकारी कार्य में बाधा डालने का केस दर्ज कर कानूनी कार्यवाही करने की कृपा करें।

संलग्नक :- मेडिकल रिपोर्ट

(मोहन चन्द्र पाठक)
कार्यालय सहायक द्वितीय विद्युत वितरण उपखण्ड
आईटीपार्क, देहरादून।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here