कैनाल रोड में अवैध प्लाटिंग के खिलाफ बडा एक्शन, खनन अधिकारी एवं एमडीडीए के दो सुपरवाइजर सहित चार निलंबित

0
224

यह भी चर्चा आम है कि करोड़ों रुपए मूल्य की इस जमीन पर कई भू माफिया व दलालों की गिद्ध दृष्टि जमी हुई थी। ये दलाल जमीन मालिकों को दबाव में भी लेने की कोशिश कर रहे थे। इधर पहाड़ी काटने के मामले में एमडीडीए के अधिकारियों की भूमिका भी संदिग्ध बतायी जा रही है। प्रशासन की रिपोर्ट के बाद भी आखिर MDDA इतने समय तक मौन क्यों रहा ?

देहरादून। राजधानी देहरादून के कैनाल रोड – राजपुर रोड में अवैध प्लाटिंग एवं भूमि कटान के मामले में जिलाधिकारी सोनिका ने चार 4 अधिकारी/ कर्मचारियों को निलंबित कर दिया।

इस मामले में जिला खनन अधिकारी वीरेंद्र सिंह, भू गर्भ वैज्ञानिक अनिल कुमार व MDDA के दो सुपरवाइजर प्यारे लाल एवं महावीर सिंह को निलंबित कर दिया।

इसके अलावा खनिज मोहर्रिर भूतत्व एवं खनिकर्म इकाई, कुंदन सलाल ने अनुज्ञाधारक के विरुद्ध थाना डालनवाला में एफआईआर दर्ज करवाई।

शनिवार को जिलाधिकारी ने संबंधित स्थल का निरीक्षण करते हुए मौके पर अधिकारियों को तलब किया निरीक्षण के दौरान अवैध निर्माण कार्यों को ध्वस्त करते हुए दोषी व लापरवाह अधिकारियों को निलंबन करने के निर्देश दिए।

मिली जानकारी के मुताबिक मंजीत जौहर व अनिल कुमार गुप्ता आदि द्वारा बड़े बड़े पहाड़ी टीले काटकर 14 हजार वर्ग मीटर से अधिक भूमि पर की जा रही अवैध प्लाटिंग पर जेसीबी चलाकर प्लाटिंग ध्वस्त की गई।

जिलाधिकारी ने समस्त उपजिलाधिकारी एवं संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया है कि जनपद में किसी भी प्रकार की अवैध प्लाटिंग एवं अवैध खनन को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा। अपने-अपने क्षेत्रों में अवैध प्लाटिंग एवं अवैध खनन पर गंभीरता से निगरानी रखेंगे। इस मौके पर अपर जिलाधिकारी प्रशासन शिव कुमार बर्नवाल, जिला खनन अधिकारी विजेंद्र सिंह सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here