भारत को मिला 328 रन का लक्ष्य, ऑस्ट्रेलिया ने बनाए 294 रन

0
194

भारत और मेजबान ऑस्ट्रेलिया के बीच फाइनल टेस्ट मैच ब्रिसबेन के गाबा में खेला जा रहा है। आज मुकाबले के चौथे दिन का खेल जारी है। ऑस्ट्रेलियाई टीम ने 33 रन की बढ़त के बाद अपनी दूसरी पारी में 75.5 ओवर में सभी विकेट खोकर 294 रन बनाए। इस तरह भारत को 328 रन का लक्ष्य मैच जीतने के लिए मिला है।

इस मुकाबले की बात करें तो ऑस्ट्रेलियाई टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए अपनी पहली पारी में मार्नस लाबुशाने के शतक की बदौलत 369 रन बनाए थे। इसके जवाब में भारत ने अपनी पहली पारी में शार्दुल ठाकुर और वॉशिंग्टन सुंदर के अर्धशतकों के दम पर 336 रन बनाए थे। इस तरह मेजबान टीम को 33 रनों की बढ़त मिली थी। वहीं, तीसरे दिन के खेल समाप्त होने तक ऑस्ट्रेलिया ने बिना विकेट खोए 6 ओवरों में 21 रन बनाए थे।

ऑस्ट्रेलिया की दूसरी पारी, स्मिथ की फिफ्टी

33 रनों की बढ़त के बाद आगे खेलते हुए ऑस्ट्रेलिया को डेविड वार्नर और मार्कस हैरिस ने अच्छी शुरुआत दिलाई। दोनों के बीच 80 रनों से ज्यादा की साझेदारी हुई। हालांकि, मार्कस हैरिस 38 रन के निजी स्कोर पर शार्दुल ठाकुर की गेंद पर रिषभ पन्त के हाथों कैच आउट हो गए। दूसरी सफलता भारत को वॉशिंग्ट सुंदर ने दिलाई, जिन्होंने डेविड वार्नर को 48 रन के निजी स्कोर पर चलता किया।

भारत को तीसरी और चौथी सफलता मोहम्मद सिराज ने दिलाई। सिराज ने पहले मार्नस लाबुशाने को 25 रन के निजी स्कोर पर रोहित शर्मा के हाथों कैच आउट कराया और दो गेंदों के बाद ओवर की आखिरी गेंद पर मैथ्यू वेड को बिना खाता खोले पवेलियन भेज दिया। स्टीव स्मिथ ने अपना 31वां अर्धशतक महज 69 गेंदों में पूरा किया और ऑस्ट्रेलियाई टीम को मजबूती देने का काम किया।

ऑस्ट्रेलिया का पांचवां विकेट स्टीव स्मिथ के रूप में गिरा, जो 55 रन की पारी खेलकर मोहम्मद सिराज के शिकार बने। उनका कैच रहाणे ने पकड़ा। मेजबान टीम को छठा झटका कैमरोन ग्रीन के रूप में लगा। उनको शार्दुल ठाकुर ने 37 रन के निजी स्कोर पर रोहित शर्मा के हाथों कैच आउट कराया। सातवां झटका ऑस्ट्रेलिया को कप्तान टिम पेन के रूप में गिरा जो 27 रन बनाकर शार्दुल का शिकार बने।

मेजबान कंगारू टीम को आठवां झटका मिचेल स्टार्क के रूप में लगा जो 1 रन बनाकर मोहम्मद सिराज की गेंद पर नवदीप सैनी के हाथों कैच आउट हुए। 9वीं सफलता भारत को शार्दुल ठाकुर ने दिलाई। उन्होंने नाथन लियोन को 13 रन के निजी स्कोर पर मयंक अग्रवाल के हाथों कैच आउट कराया। आखिरी सफलता सिराज को मिली। उन्होंने 9 रन पर जोश हेजलवुड को शार्दुल ठाकुर के हाथों कैच आउट कराया और अपना पहला फाइफर हासिल किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here